Ultimate magazine theme for WordPress.

महापर्व छठ के लिए सज गए बाजार, बिहार से दिल्ली तक बनारसी पीतल सुप की डिमांड 

0

वाराणसी। महापर्व डाला छठ पूजा की शुरुवात पुरे देश में शुरू हो चुकी है। जिसके बाद बाजारों में भी रौनक देखने को मिल रही है।  लोग छठ पूजा की तैयारियों के लिए बाजार से पूजन सामग्री खरीद रहे है। छठ पूजा में सबसे महत्वपूर्व भूमिका होती है सुप की जो बाँस के लकड़ियों के बनती है। लेकिन बनारस में बनने वाले पीतल के सुप की भी बिहार से लेकर दिल्ली तक खासा मांग रहता है।

बनारस में कई लघु उद्योग हैं जिसका डिमांड देश में ही नही बल्कि अन्य देशों में भी रहता है। इन्ही लघु व्यापार में से एक है छठ पूजा में प्रयोग होने वाले ये पीतल के सुप । वैसे तो पीतल के सुप कुछ और शहरों में बनते हैं लेकिन बनारस में बने ये पीतल के सुप खासा डिमांड में होते हैं। इनकी खासियत ये है कि ये पीतल के सुप सूर्यमुखी होते हैं जो सिर्फ बनारस में ही बनते हैं । यही डिजाइन इन्हें औरों से अलग करते हैं। इसलिए छठ पर्व पर इसकी डिमांड बिहार से लेकर दिल्ली तक और अन्य राज्य में रहती है।

आधुनिकता के समय में हर कोई छठ पूर्व को और आकर्षक तरीके से मनाना चाहता है । बांस के लकड़ी के सुप तो पूजा में शामिल होते ही हैं लेकिन हर पूजा करने वाला व्यक्ति एक पीतल के सुप जरूर चढ़ाता है । कहा जाता है कि पीतल में लक्ष्मी का वास होता है इसलिए भी इस पर्व पर इसका डिमांड रहता है । बाजार में ये  मात्र 400 रूपये तक मिल जाते हैं ऐसे में खरीददार भी इसे आसानी से खरीदते हैं।

कोरोना काल में छठ पर्व का उत्सव बाजार में एक बार फिर रौनक लेकर आया है । तो वही पीतल के सुप बनाने वाले व्यापारियों के लोए भी ये वरदान साबित हो रहा है क्योंकि मंद पड़े व्यापार में इस सुप के कारण जान आई है जिससे बाजार को सुधरने की एक उम्मीद जगी है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.