TopUPvaranasi

रक्षाबंधन की पूर्व संध्या पर महिलाओं को सरकार का तोहफा, वाराणसी में आज खुलेंगे 694 ‘मिशन शक्ति कक्ष’

 वाराणसी। महिलाओं व  बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलम्बी बनाने के लिए  प्रदेश सरकार रक्षा बंधन की पूर्व संध्या पर उन्हें खास तोहफा देने जा रही है । इसके तहत प्रदेश के सभी ग्राम पंचायतों में ‘मिशन शक्ति कक्ष’ खोलने का निर्णय लिया गया है | यह कक्ष महिलाओं-बालिकाओं को स्वालम्बी बनाने में अहम भूमिका निभाने के साथ ही उन्हें सुरक्षा और सम्मान दिलाने के लिए भी काम करेंगे । वाराणसी के सभी 694 ग्राम पंचायतों में भी ‘मिशन शक्ति कक्ष’ खोलने की तैयारी है । मिशन शक्ति कक्ष शनिवार 21 अगस्त से काम करने लगेंगे।
आधी आबादी को  अधिकारों के लिए जागरूक करने और आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से प्रदेश सरकार 21 अगस्त से मिशन शक्ति-3 अभियान का शुभारंभ करने जा रही है । इसके तहत महिलाओं एवं बालिकाओं को आत्मनिर्भर बनाने का प्रशिक्षण, सुरक्षा एवं सम्मान के प्रति जागरूकता प्रदान किए जाने की कार्ययोजना संचालित होगी।  इसमें पुलिस, महिला कल्याण, ग्राम्य विकास, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, नगर विकास, पंचायती राज, बेसिक शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा, उच्च शिक्षा एवं युवा कल्याण सहित 10 विभागो को सम्मिलित किया गया है।

मिशन शक्ति अभियान में हर  ग्राम पंचायत में “मिशन शक्ति कक्ष” बनाने के निर्देश दिये गये हैं। साहायक जिला पंचायत राज अधिकारी उपेन्द्र कुमार पाण्डेय ने बताया कि इसके तहत सभी ग्राम पंचायत में एक ‘मिशन शक्ति कक्ष’ बनाया जा रहा है। पंचायत भवन की एक दीवार पर मिशन शक्ति अभियान से जुड़े व नारी सशक्तीकरण के स्लोगन व बैनर, पोस्टर अंकित किए जाएंगे। यहां महिलाओं को स्वावलम्बी बनाने की योजनाओं की तो जानकारी दी ही जाएगी उन्हें सुरक्षा और सम्मान दिलाने के लिए भी काम होगा। ‘मिशन शक्ति कक्ष’ में महिलाओं-बालिकाओं से सम्बन्धित चलायी जा रही सरकार की विभिन्न योजनाओं की उन्हें विस्तार से जानकारी दी जाएगी।

 महिला पुलिसकर्मी भी होंगी तैनात
पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अमित वर्मा  ने बताया कि मिशन शक्ति कक्ष में महिला पुलिसकर्मियों की भी तैनाती होगी ताकि महिलाएं-बालिकाएं उन्हें अपनी समस्याएं बेझिझक बता सकें । घरेलू हिंसा, प्रताड़ना के अलावा यदि कोई उन्हें परेशान कर रहा है तो वह उसके बारे में जानकारी इन महिला पुलिसकर्मियों को देंगी। महिला पुलिसकर्मी न केवल महिलाओं की समस्याओं को सुनेंगी बल्कि उसका तत्काल  निस्तारण भी कराएंगी।

liveupweb
the authorliveupweb