UP-GOVERMENTvaranasi

गिलकिट, बाल्टिस्तान और पीओके खाली कराने को लेकर नाराज मुस्लिमों ने पाकिस्तान का फूंका पुतला

• मुस्लिम महिला फाउण्डेशन की नेशनल सदर नाजनीन अंसारी ने पाकिस्तान का पुतला फूंककर भारत भूमि पर अवैध कब्जे को हटाने की मांग की।
• महबूबा के बयान से नाराज सामाजिक संगठनों ने पाकिस्तान मुर्दाबाद ने नारे लगाये।
• किसी भी बातचीत में पाकिस्तान को शामिल न करने की मांग।
• पाकिस्तान से बात नहीं अब उस पर कार्यवायी का समय।
• पाकिस्तान द्वारा अवैध रूप से कब्जा किये गये भारत भूमि को खाली कराने की मांग।
• 5 हजार मुसलमानों ने हस्ताक्षर से संयुक्त राष्ट्र संघ को लिखी जायेगी चिठ्ठी।
• दुनियां के देश भारत भूमि को पाकिस्तान के अवैध कब्जे से मुक्त कराने में भारत का साथ दें।
वाराणसी, 25 जून। जैसे ही भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कश्मीर के नेताओं को बातचीत के लिये बुलाया, वैसे ही कश्मीर की नेता महबूबा मफ्ती ने पाकिस्तान की वकालत करते हुये भारत को पाकिस्तान के साथ बातचीत करने की सलाह दी।
महबूबा के बयान पर सामाजिक संगठनों ने गहरी नाराजगी जतायी और काशी में नाराज सामाजिक संगठनों की कमान संभाली मुस्लिम महिला फाउण्डेशन की नेशनल सदर नाजनीन अंसारी ने। उधर प्रधानमंत्री की बात शुरू, इधर पाकिस्तान का पुतला दहन शुरू।
मुस्लिम महिला फाउण्डेशन, मुस्लिम राष्ट्रीय मंच एवं विशाल भारत संस्थान ने संयुक्त रूप से लमही के इन्द्रेश नगर में सुभाष भवन के सामने पाकिस्तान का पुतला फूंका। नाराज सामाजिक संगठनों की नेता नाजनीन अंसारी ने अपने हाथों से पाकिस्तान के पुतले में आग लगायी। ड्रम, ताशा और बिगुल बजाकर पाकिस्तान को चेतावनी दी शीघ्र ही भारत की कब्जाई जमीन खाली करो। गिलकिट, बाल्टिस्तान और पाकिस्तान अनाधिकृत कश्मीर को विश्व समुदाय मुक्त कराने में भारत की मदद करे।
मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के पूर्वांचल प्रभारी मो० अजहरूद्दीन ने विश्व समुदाय के नेताओं से अपील की कि पाकिस्तान पर दबाव बनाये ताकि पाकिस्तान भारत की कब्जाई भूमि को मुक्त कर दे।


इस अवसर पर जुटे मुसलमानों की एक राय थी कश्मीर के मसले पर पाकिस्तान के साथ कोई बातचीत नहीं होगी। अगर विश्व समुदाय को बातचीन करनी है तो गिलकिट, बाल्टिस्तान, पाकिस्तान अनधिकृत कश्मीर, सिंध और बलूचिस्तान पर करें, जो भारत का हिस्सा है उसे भारत को वापस करें।
मुस्लिम धर्मगुरू मौलाना मुफ्ती शफीक अहमद मुजद्दीदी ने पाकिस्तान को लेकर सवाल उठाया कि वहां क्यों अल्पसंख्यकों के साथ अत्याचार हो रहा है। पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर अत्याचार से पूरी दुनियां के अल्पसंख्यक असुरक्षित हो गये हैं और इस्लाम बदनाम हो रहा है।
पुतला फूंकने के बाद सुभाष भवन में बैठक हुयी जिसमें नाजनीन अंसारी ने प्रस्ताव रखा कि बनारस मंडल के 5 हजार मुसलमान संयुक्त राष्ट्र संघ को चिट्ठी लिखकर पाकिस्तान से भारत भूमि को खाली कराये जाने की मांग करेंगे।
महबूबा के बयान की कड़ी निन्दा करते हुये नाजनीन अंसारी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कश्मीर मसले पर पाकिस्तान के साथ किसी तरह की बातचीत न करें। महबूबा को अगर पाकिस्तान से इतना प्रेम है तो तुरन्त पाकिस्तान निकल लें। पाकिस्तान जाने का खर्च मुस्लिम महिला फाउण्डेशन देगी। जो देश के साथ गद्दारी करेगा उसे भारतीय मुसलमान कभी माफ नहीं करेंगे। अपने वतन की हिफाजत के लिये मुस्लि महिलायें भी पीछे नहीं रहेंगी। पाकिस्तान से बात नहीं अब सीधे कार्यवायी की जरूरत है। हर कीमत पर गिलकिट, पीओके, बाल्टिस्तान को भारत में शामिल कर वहां चुनाव कराये जाने चाहिये।
विशाल भारत संस्थान के संस्थापक अध्यक्ष डा० राजीव श्रीवास्तव ने कहा कि पाकिस्तान से पूरी दुनियां परेशान है। पाकिस्तान का मकसद दुनियां में आतंक फैलाना है। गिलकिट, बाल्टिस्तान, पीओके के लोग दुनियां के पीड़ित लोगों में से एक हैं। अब मानवाधिकार की रक्षा करते हुये दुनियां के देशों को मिलकर पाकिस्तान से आजादी दिलाने की जरूरत है, ताकि मानवता आजाद हो सके।
ऑनलाईन नई दिल्ली से बैठक को सम्बोधित करते हुये प्रसिद्ध राष्ट्रवादी विचारक इन्द्रेश कुमार ने कहा कि पाकिस्तानी जुल्म से मानवता पीड़ित है। अल्पसंख्यकों पर जुल्म, इस्लाम के सच्चे अनुयायियों पर जुल्म और बलूचिस्तान में बच्चों पर जुल्म पाकिस्तान का शगल है। अब पाकिस्तान का अत्याचार और दखल बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। पाकिस्तान शीघ्र ही बाल्टिस्तान, गिलकिट और पीओके खाली करे, ताकि वहां पर भारतीय चुनाव आयोग अपना चुनाव करा सके क्योंकि जम्मू कश्मीर के विधान सभा में उन क्षेत्रों के लिये सीट खाली रखी गयी है।
इस कार्यक्रम में अब्दुल सलाम, अब्दुल हकीम, मुश्ताक अहमद, अनीस अहमद, नगीना बेगम, नाजमा, नजमा परवीन, राशिद भारतवंशी, तबरेज भारतवंशी, ताजीम भारतवंशी, रोजा भारतवंशी, शाहिद, अफसर बाबा आदि लोगों ने भाग लिया।

liveupweb
the authorliveupweb