Uncategorized

मुख्यमंत्री ने काशी में गतिमान प्रमुख परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा की,बोला नही हो सीवर ओवरफ्लो

वाराणसी में विकास के रिकॉर्ड कार्य हुए और अनवरत जारी है-मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

जनपद में 8817.27 करोड़ रुपए की 117 प्रमुख परियोजनाएं गतिमान है

गतिमान प्रमुख परियोजनाओं में 5219.45 करोड़ की 75 परियोजनाएं इसी वर्ष दिसंबर तक पूर्ण हो जाएंगी

काशी में कार्य करना सौभाग्य से मिलता हैं

सड़कों में गड्ढा नहीं रहे, सीवर ओवरफ्लो नहीं हो- मुख्यमंत्री

   वाराणसी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने एक दिवसीय वाराणसी दौरे के दौरान गुरुवार को सर्किट हाउस में जनपद में गतिमान प्रमुख परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा की। काशी में सहायता व लोककल्याणकारी कार्यक्रमों के साथ विकास के रिकॉर्ड कार्य हुए हैं और अनवरत जारी हैं। वर्तमान में 8817.27 करोड़ रुपए की 117 प्रमुख परियोजनाएं गतिमान है, जिसमें इसी वर्ष दिसंबर तक 5219.45 करोड़ रुपए की 75 परियोजनाएं चरणबद्ध रूप से पूर्ण हो जाएंगी। इसी माह अगस्त में 102.73 करोड़ रुपए की 8 परियोजनाएं पूर्ण हो जाएंगी। अगले माह सितंबर में 2997.57 करोड़ रुपए की 19 परियोजनाएं पूर्ण हो जाएंगी। अक्टूबर में 1013.42 करोड़ रुपए की 11 परियोजनाएं पूर्ण होंगी। नवंबर माह में 536.83 करोड़ रुपए की 13 परियोजनाएं पूर्ण होंगी तथा 539.44 करोड़ रुपए की 20 परियोजनाएं दिसंबर में पूर्ण हो जाएंगी।
      मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जल निगम के कार्यों के विलंब पर गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए चीफ इंजीनियर जल निगम को 15 अक्टूबर के पूर्व शाही नाले के कार्य को पूर्ण करने के निर्देश दिए। अन्यथा की स्थिति में उनके विरुद्ध कार्यवाही होगी। मुख्यमंत्री ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी से कोरोना नियंत्रण कार्यों की पूछताछ की। जनपद में औसतन 5000 टेस्ट हो रहे हैं। जिसमें मात्र इक्का-दुक्का केस पॉजिटिव निकलता है। उन्होंने कांट्रैक्ट ट्रेसिंग जारी रखने के निर्देश दिए। स्वास्थ्य सेवाएं चुस्त-दुरुस्त रहे। एंबुलेंस, बेड, स्ट्रेचर आदि मरीज को समय से उपलब्ध हो। किसी संसाधन की कमी नहीं है। शिक्षा विभाग को निर्देशित किया कि 16 अगस्त से माध्यमिक शिक्षा के व 1 सितंबर से कक्षा 6 की स्कूल पठन-पाठन को खुलेंगे। इससे पहले स्कूलों को जिला विद्यालय निरीक्षक, बेसिक शिक्षा अधिकारी, एसडीआई निरीक्षण कर वहाँ  साफ-सफाई, शुद्ध पेयजल, शौचालय व्यवस्था, कहीं खरपतवार नहीं हो आदि देख ले। सभी शिक्षक स्कूल आए। बच्चों को बुलाने हेतु अभिभावकों से संपर्क करें। नगर आयुक्त से मुख्यमंत्री ने नगर की साफ-सफाई, कूड़ा निस्तारण के बारे में पूछताछ की। नगर निगम में जुड़े गांव के लिए 700 कर्मी लगा दिए गए हैं। नई फागिंग मशीन क्रय कर कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। बीडीए को कैंप लगाकर नक्शा पास करने के मामले निस्तारण के निर्देश दिए। अवैध वसूली करने वाले अभियंताओं पर कार्यवाही की जाए। जलनिगम, सीएनडीएस आदि निर्माण एजेंसी निर्माण कार्यों में गुणवत्ता सुनिश्चित करें। कार्य की मानक, गुणवत्ता व समयबद्धता पर कोई समझौता नहीं होगा। लापरवाही करने वाले के विरुद्ध कार्यवाही होगी। पीडब्ल्यूडी व अन्य सड़क निर्माण एजेंसी यह सुनिश्चित करले की सड़कों में गड्ढा नहीं रहने चाहिए। हर विभाग को पर्याप्त धनराशि उपलब्ध है। सड़कों पर कोई गड्ढा है तो उसे तत्काल भरे तथा बरसात बाद गड्ढामुक्त सड़क का अभियान चलाकर सड़कें दुरुस्त करें। कहीं भी सीवर ओवरफ्लो नहीं हो। सीनियर अफसर स्वयं विजिट करें और आख्या शासन हुआ मुख्यमंत्री कार्यालय लखनऊ को भेजें। काशी में सौभाग्य से कार्य करने का अवसर मिलता है। यहां के कार्य का संदेश देश दुनिया में जाता है। ऐसा अच्छा काम करें, लोग यहां के कार्यों का अनुकरण करें। विकास परियोजनाएं समय से पूर्ण करें। मुख्यमंत्री ने शहर की ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारने पर बल दिया। शहर की कानून व्यवस्था में पुलिस कमिश्नरेट बनने का प्रभाव परिलक्षित हो। विकास परियोजनाओं का प्रजेंटेशन कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने किया।
     बैठक में पर्यटन मंत्री डॉक्टर नीलकंठ तिवारी, स्टांप मंत्री रविंद्र जायसवाल, विधायक सौरभ श्रीवास्तव, विधायक सुरेन्द्र नारायण सिंह, विधायक डॉ अवधेश सिंह, एमएलसी लक्षमण आचार्य, एमएलसी अशोक धवन, जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम मौर्या, महापौर मंजुला जायसवाल, कमिश्नर दीपक अग्रवाल, आईजी एस के भगत, पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश, जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा, मुख्य विकास अधिकारी, नगर आयुक्त सहित अन्य विभागीय अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।
liveupweb
the authorliveupweb