Big NewsCrimeUncategorizedUPvaranasi

Varanasi : नीलगिरि इंफ्रासिटी कंपनी के मालिक दम्पति की कुंडली खंगालेगी प्रवर्तन निदेशालय


वाराणसी। जमीन की खरीद फरोख्त में निवेशकों के साथ मारपीट और धोखाधड़ी के आरोपी  नीलगिरी इंफ्रासिटी के सीएमडी विकास सिंह व एमडी ऋतु सिंह सहित कंपनी से जुड़े लोगों  की कुंडली अब प्रवर्तन निदेशालय खंगालेगी।

बुधवार को ईडी ने पुलिस कमिश्नर से सीएमडी और एमडी के ऊपर दर्ज मुकदमों के बारे में जानकारी मांगी। दोनों की अचल संपत्ति को जल्द ही गैंगस्टर एक्ट के तहत जब्त किया जाएगा। वहीं इस मामले में पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने एसआईटी गठित करने का फैसला किया।

इसके साथ ही नीलगिरि कंपनी के खिलाफ मंगलवार रात तक धोखाधड़ी के सात और मुकदमे चेतगंज थाने में दर्ज हुए। दो दिन में कुल 22 मुकदमे दर्ज हुए हैं। इस दौरान कई पीड़ितों ने सीएमडी-एमडी की कारगुजारियों की पुलिस को जानकारी दी।

चेतगंज थाने में नीलगिरी कंपनी के मालिकों पर मुकदमा दर्ज कराने वाले झारखंड के गिरीडीह घुटवाली डूंगरी निवासी पप्पू कुमार महतो का आरोप है कि लुभावने ऑफर देकर लोगों को ठगा जाता था। नीलगिरी इंफ्रासिटी के गोल्डन स्काई टूर एंड ट्रैवल्स प्राइवेट लिमिटेड में 52,500 रुपये का निवेश किया था। विकास और ऋतु ने कहा था कि अगले 60 हफ्ते तक प्रति हफ्ते 1000 रुपये मिलेंगे। कुछ हफ्ते तक जीएसटी काटकर उन्हें 900 रुपये मिले। इसके बाद पैसा नहीं मिला।

liveupweb
the authorliveupweb