Big NewsTopUtter Pradeshvaranasi

वाराणसी में बनेगा पहला पशु शवदाह गृह


वाराणसी।
काशी में पशुओं के लिए पहला शवदाह गृह बनेगा,जिसमें करीब दो करोड़ 24 लाख रुपये खर्च होंगे। इस धनराशि का प्रबंध जिला पंचायत की ओर से किया जाएगा। इसके लिए तैयारी शुरू हो गई है। इस धनराशि से 400 किलोग्राम प्रतिघंटा की क्षमता का संयत्र लगेगा।


मान्यता अनुसार अभी तक पशुओं की मौत होने पर जमीन में गड्ढा खोदकर गाड़ दिया जाता था लेकिन शहरीकरण की वजह से जमीनाें पर धीरे धीरे बिल्डिंगें तनती जा रही हैं। लिहाजा जमीन नहीं मिल पा रही है। कुछ यही हाल ग्रामीण क्षेत्रों में भी हो गया है। अब पशुपालन व्यवसाय का स्वरूप ले लिया है। बहुतायत के पास जमीन नहीं है लेकिन वह पशुपालन कारोबार से जुड़े हैं। किसी वजह से पशु की मौत हो जाती है तो जमीन मालिक अपने खेत में पशुओं को गाड़ने की छूट नहीं देते हैं। लिहाजा लोग नदियों में, नदियाें के किनारे या जंगल आदि में मृत पशुओं को फेंक देते हैं। इससे पर्यावरण को खासा नुकसान होता है। इसलिए जिला प्रशासन की ओर से यह कदम उठाया गया है।

शासन के निर्देश के क्रम में छुट्टा पशुओं को पशुआश्रय स्थल में रखा जा रहा है। पशुओं काे खाने पीने से लगायत चिकित्सा सुविधा तक के इंतजाम के निर्देश हैं। जिले में इस समय 113 पशुआश्रय स्थल में 4946 पशुओं को रखा गया है। आए दिन संख्या बढ़ती जा रही है। निराश्रित पशुओं की मौत होने के बाद भी लोग अपनी जमीन में इसे गाड़ने से मनाही करते हैं।

liveupweb
the authorliveupweb