FloodUPvaranasi

बाढ़ : गंगा ने दिखाया रौद्र रूप, शहरी इलाकों में घुसा बाढ़ का पानी, सहमे लोग

वाराणसी। काशी में गंगा के जलस्तर में तेजी से बढ़ाव जारी है। गंगा के रौद्र रूप ने  बीती रात गंगा के जलस्तर ने चेतावनी बिंदु को पार कर लिया है। इसके बाद तटवर्ती इलाकों में रहने वालों की धड़कन तेज हो गई है तथा निचले क्षेत्रों में बने घरों में गंगा का पानी घुसने लगा है। इसके साथ ही शहर के निचले इलाके में पानी भर जाने से लोगों को बड़ी परेशानियों का सामना करना पर रहा है। जिसमे अस्सी और नगवा इलाके में बाढ़ का पानी लोगों को घर छोड़ने पर मजबूर कर रहा है। वही जिला प्रशासन ने बाढ़ के खतरें को देखजते हुए अपर जिलाधिकारी सहित कई अधिकारीयों को ड्यूटी पर तैनात कर दिया है। 


केंद्रीय जल आयोग के अनुसार शनिवार 7 अगस्त को सुबह 8:00 बजे तक वाराणसी में गंगा का जलस्तर 70.95 मीटर पर था। जबकि चेतावनी बिंदु 70.20 है। गंगा चेतावनी बिंदु से 75 सेंटीमीटर ऊपर से बह रही है। अभी भी गंगा के जलस्तर में 3 सेंटीमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से लगातार बढ़ोतरी हो रही है। फिलहाल *गंगा खतरे के निशान 71.26 मीटर से लगभग 30 सेंटीमीटर नीचे हैं।


बता दें कि सन 1978 में गंगा का जलस्तर 73.901 दर्ज किया गया था, जो अबतक का सबसे उच्चतम रिकॉर्ड है। 


जलस्तर में बढ़ोतरी के साथ ही एनडीआरएफ तथा पुलिस बस लगातार गंगा में निगरानी गश्त में जुटे हुए है। गंगा में नाव चलाने वाले नाविक भी अपनी नाव को ऊपर की तरफ बांधकर निगरानी कर रहे हैं। वहीं जिला प्रशासन ने भी सम्भावित बाढ़ की आशंका को देखते हुए अपनी कमर कस लिया है तथा निगरानी के लिए लोगों को लगा रखा है। जिला प्रशासन नेबढ़ को लेकर हेल्पलाइन नंबर 0542-2502562 भी जारी किया हुआ है। 

liveupweb
the authorliveupweb