FloodTopUPvaranasi

Varanasi : गंगा नदी के जलस्तर में लगातार हो रही वृद्धि, बाढ़ पीड़ितों से मिले DM

वाराणसी। जनपद वाराणसी में गंगा नदी के जल स्तर में लगातार वृद्धि हो रही है, आज शनिवार को प्रातः 08.00 बजे जल स्तर 70.36 मी0 था। जनपद में चेतावनी बिन्दु 70.26 मी0 तथा खतरे का बिन्दु 71.26 मी0 है। जल स्तर में प्रति घण्टे 03 से0मी0 की वृद्धि हो रही है। गंगा नदी के तटवर्ती इलाकों तथा शहर क्षेत्र में वरूणा नदी के समीप स्थित मोहल्लों/वार्डो में कई स्थानों पर मकान पानी से घिर गये है। जनपद में कुल 62 बाढ़ चौकियां/शरणालय चिन्हित है, जिनमें बाढ़ को दृष्टिगत रखते हुए विभिन्न विभागों के कर्मचारियों की तैनाती कर दी गयी है।

9 बाढ़ चौकियों पर बाढ़ से प्रभावित कुल 738 व्यक्ति आश्रय ले चुके है। प्राथमिक विद्यालय सरैया में 121 व्यक्ति, गोपी राधा इण्टर कालेज में कुल 20 व्यक्ति, मदरसा सरैया में कुल 77 व्यक्ति, मदरसा सरैया (द्वितीय) में कुल 50 व्यक्ति, प्राथमिक विद्यालय ढेलवरिया में कुल 85 व्यक्ति, माता प्रसाद प्राथमिक विद्यालय बड़ी बाजार में कुल 80 व्यक्ति, नवयुग विद्या मन्दिर, ढेलवरियां में कुल 40 व्यक्ति, बड़ादेव मन्दिर ढेलवरियां में कुल 250 व्यक्ति तथा गोयन्का संस्कृत महाविद्यालय भदैनी में कुल 15 व्यक्ति आश्रय लिये हुए हैं।

बाढ़ राहत केन्द्रों पर आवश्यक वस्तुओं यथा-खाद्य सामग्री, तिरपाल, पशुओं हेतु चारा/भूसा तथा अन्य आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति व्यवस्था सुदृढ़ कर दी गयी है। बाढ़ की स्थिति में पशुओं के भूसा, टीकाकरण इत्यादि की व्यवस्था मुख्य पशु चिकित्साधिकारी के माध्यम से पूर्ण की जा चुकी है।

जनपद स्तर पर बाढ़ कंट्रोल रूम की स्थापना जिला आपदा प्रबन्ध प्राधिकरण में कर दी गयी गयी है तथा उक्त बाढ़ कंट्रोल रूम में पालीवार ड्यूटी लगा दी गयी है। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में आवश्यकतानुसार 03 मोटर बोट तथा 15 नावों की व्यवस्था की गयी है। मोटर बोट एवं नाव की
व्यवस्था हेतु राजेन्द्र कन्नौजिया, राजस्व निरीक्षक मो0 9415620341 को प्रभारी बनाया गया है।

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने आज शनिवार को प्राथमिक विद्यालय सरैया, प्राथमिक विद्यालय
ढेलवरिया स्थित बाढ़ राहत केन्द्रों का निरीक्षण किया तथा बाढ़ पीड़ित परिवारों को भोजन, स्वच्छ पेयजल तथा अन्य आवश्यक सामग्री का पर्याप्त प्रबन्ध करने के निर्देश दिये गये। जिलाधिकारी द्वारा वरूणा नदी के समीप रह-रहे परिवारों को स्वयं राहत सामग्री के पैकेट का वितरण किया गया तथा अन्य सभी बाढ़ प्रभावित परिवारों/व्यक्तियों को तत्काल राहत सामग्री वितरित करने के निर्देश दिये गये।

जिलाधिकारी द्वारा निरीक्षण के दौरान उपस्थित नगर आयुक्त, अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0), उप जिलाधिकारी सदर तथा तहसीलदार सदर को स्वच्छता, सेनेटाईजेशन, स्वच्छ जल आपूर्ति, कम्यूनिटी किचेन तथा अन्य राहत सामग्री के सन्दर्भ में आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये।

liveupweb
the authorliveupweb