Big NewsDMVARANASISARAKARI YOJANAUPUP-GOVERMENTUTTAR, PRADESH,Utter Pradeshvaranasi

काशी में कार्य करना सौभाग्य की बातहै  मुख्यमंत्रीसभी अधिकारी लगन से करे काम नहीं तो होगी कार्यवाई ,पूर्वांचल विद्युत  निगम के MD को कर  दिया निलंबित 

काशी में पूरी श्रद्धा एवं तन्मयता के साथ कार्य करें-योगी आदित्यनाथ

कार्य को परिणाम तक पहुंचाएं

समस्याओं का समाधान करें

कोरोना कॉल में बनारस में अच्छा काम हुआ है

एमडी, पावर कारपोरेशन को लापरवाही पर निलंबित करने का मुख्यमंत्री ने दिया निर्देश

जलनिगम के कार्यों में धीमी गति पर मुख्य अभियंता को मुख्यमंत्री ने कड़ी अंतिम चेतावनी

प्रशासन का जनप्रतिनिधियों से साप्ताहिक संवाद हो


 
         वाराणसी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने एक दिवसीय वाराणसी दौरे के दौरान शुक्रवार को सर्किट हाउस सभागार में समीक्षा बैठक के दौरान कहां की कोरोना के दृतीय लहर में वाराणसी में अच्छा कार्य हुआ है। काशी में कार्य करना सौभाग्य की बात है। पूरी श्रद्धा व तन्मयता से कार्य करें। समस्याओं का समाधान करें। कार्य को परिणाम तक पहुंचाएं। प्रशासन साप्ताहिक रूप से जनप्रतिनिधियों के साथ संवाद बनाए। नगर निगम प्रोजेक्ट बनाते समय जनप्रतिनिधियों का सहयोग ले। निगम में जुड़े नए गांव में साफ सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित हो। शासन द्वारा उसके लिए धनराशि की व्यवस्था रखी गई है। कोरोना काल में प्रशासन, स्वास्थ्य, स्वयंसेवी संगठनों, जनप्रतिनिधियों ने मिलकर अच्छा काम किया है। कोरोना कमजोर हुआ अभी समाप्त नहीं हुआ है। बरसात में काला ज्वार, मलेरिया डेंगू से सतर्क रहना है। कोरोना तीसरी लहर की आशंका के लिए सतर्कता से कार्य करें। कोरोना से विकास व अर्थव्यवस्था पर असर पड़ा, अब मौका है अर्थव्यवस्था हेतु विकास में तेजी लाये। कार्यो का भौतिक सत्यापन करें और जवाबदेही तय करें। वाराणसी की पहचान वरुणा व अस्सी से पड़ा बनारस हैं। इन्हें व्यवस्थित व संरक्षित की कार्रवाई हो, चैनेलाइजेशन का कार्य हो। गंदा नाला गंगा या वरुणा व अस्सी में नहीं पड़े। सरकारी अस्पताल सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में बड़ी संख्या में इक्विपमेंट सामान आदि उपलब्ध कराए गए हैं। अस्पताल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी को इसकी जिम्मेदारी दें। कोई सामान चोरी नहीं हो। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कारण काशी को नई पहचान मिली है। यहां धन की उपलब्धता है। संसाधन उपलब्ध है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना दीपावली तक चलेगी। कोटेदार की दुकान पर एक साथ भीड़ न जुटे और ई पास मशीन से खाद्यान्न वितरण हो।


         मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि इस समय प्रदेश में चार लाख से अधिक वैक्सीनेशन रोज हो रहे हैं। 21 जून से 06 लाख से अधिक लगेगी तथा जुलाई से प्रतिदिन 10 से 12 लाख डोज प्रतिदिन लगेगी। 3 गुना बढ़ेगी इसकी प्लानिंग कर ले। कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के दृष्टिगत बच्चों के लिए मेडिसिन किट चुकी है। 24 जून से वितरित करें। चार प्रकार की किट है। निगरानी समितियों ने अच्छा काम किया है उनका दवा वितरण में सहयोग ले। कोरोना से मृत माता-पिता के बच्चों हेतु बाल सेवा योजना लागू है। नाम कोविड से मृत व्यक्तियों के बच्चों के लिए केंद्र की केंद्र की ₹2000 प्रति माह की योजना है। निराश्रितो को निराश्रित महिला पेंशन, अन्नपूर्णा राशन कार्ड, आवास सुविधा, आरोग्य योजना से आच्छादित करें। रिंग रोड पर अभी चार-पांच जगह चिन्हित कर क्षेत्र विकसित करें।
         कानून व्यवस्था में बनारस सर्किल में माफियाओं के विरुद्ध व्यापक कार्यवाही हुई है। 410  करोड़ रुपए की संपत्ति जबत एवं ध्वस्त की गई। 393 शराब माफियाओं के विरुद्ध कार्यवाही हुई और उनकी 22 करोड़ रुपए की संपत्ति जबत हो गई। मुख्यमंत्री ने कहा कि हर घर नल योजना से सभी आंगनवाड़ी व प्राइमरी स्कूल आच्छादित हो। ग्रामीण सामुदायिक शौचालय की केयरटेकर को ₹6000 मासिक मानदेय समय से भुगतान सुनिश्चित किया जाए। जनपद में किसान सम्मान निधि में अब तक 338.45 करोड़ रुपए किसानों के खातों में भेजी जा चुकी है। जनपद में कोविड कन्ट्रोल प्रभावी रूप से हुआ। इस समय पॉजिटिविटी रेट 0.6 फ़ीसदी आ गया है। रिकवरी 98 फ़ीसदी से अधिक है। मृत्यु दर 0.8 फ़ीसदी है। दृतीय लहर में 1.86 लाख मेडिसिन किट वितरित की गई। तीसरी लहर की आशंका के दृष्टिगत तैयारियां कर ली गई है। 14 ऑक्सीजन प्लांट सरकारी अस्पतालों में स्थापित हो रहे हैं। जनपद की समस्त 10 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर ऑक्सीजन प्लांट की प्लानिंग कर ली गई है जो 30 जुलाई तक लग जाएंगे। जिला मुख्यालय के अस्पतालों के अतिरिक्त ग्रामीण सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भी बच्चों के लिए बेड आरक्षित रहेंगे। जनपद में पौने सात लाख लोगों का वैक्सीनेशन हो चुका है। 18 प्लस के दो लाख युवा वैक्सीनेशन से कबर हो चुके हैं और तेजी से वैक्सीनेशन हो रहा है।
         बैठक में जनप्रतिनिधियों ने भी अपने सुझाव रखे। इस पर मंत्री डॉक्टर नीलकंठ तिवारी, मंत्री रविंद्र जायसवाल, सुनील ओझा, महापौर मृदुला जायसवाल, विधायक सौरभ श्रीवास्तव, विधायक सुरेंद्र नारायण सिंह, एमएलसी अशोक धवन के अलावा एडीजी, पुलिस कमिश्नर, कमिश्नर दीपक अग्रवाल, जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा सहित अन्य विभागीय एवं कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारी एवं अभियंता प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

liveupweb
the authorliveupweb