Big NewsBJPPoliticsTopUPvaranasi

मंत्री डॉ नीलकण्ठ तिवारी पेश किया दक्षिणी विधानसभा का रिपोर्ट कार्ड, 2000 करोड़ रुपये से किया गया क्षेत्र का विकास

वाराणसी। यूपी में विधानसभा चुनाव के नजदीक आते ही सभी राजनीतिक पार्टियां अपना रिपोर्ट कार्ड जनता के सामने रख रही है। इसी क्रम में पीएम के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के शहर दक्षिणी विधानसभा के विधायक एवं पर्यटन राज्य मंत्री नीलकंठ तिवारी ने अपने क्षेत्र में किये गए विकास कार्यों के बारे में बताया। 


उन्होंने कहा कि बाबा विश्वनाथ के आशीर्वाद व दक्षिणी विधानसभा के देवतुल्य जनमानस के निरंतर स्नेह, प्रेम व सहयोग से मैंने विधायक के दायित्व का निर्वहन करते हुए अपने कार्यकाल के साढ़े चार वर्ष पुरे किये है। इस जनसेवा कार्य में मार्गदर्शन के लिए मैं सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित अपने विधानसभा क्षेत्र के सभी ह्रदय प्रिय मतदाता व संगठन के कार्यकर्ताओं के प्रति आभार व्यक्त करता है। बसे पुरातन नगरी भी है। विश्व के सभी संस्कृतियों का संगम यहां सामान्य क्रम में देखने को मिलता है।  ऐसा शहर है जहां अन्य देशों के लोग ज्ञान अर्जन के भाव को लेकर आते है और यही के रहकर हो जाते है। 

वह काशी जिसे वैश्विक स्तर पर पुरातन काशी संस्कृतियों का संगम काशी के रूप में जाना जाता है, उसका ज्यादातर हिस्से दक्षिण विधानसभा में शामिल है। बाबा विश्वनाथ का दिव्य धाम भी यही है। माता अन्नपूर्णा यही विराजती है। 
दक्षिण विधानसभा पूर्वांचल का व्यवसायिक केंद्र भी है। यहां पूर्वांचल की सबसे बड़ी दवा मंडी, पूर्वांचल की सबसे बड़ी किराना मंडी, सराफा मंडी, गल्ला मंडी के साथ साथ विश्व प्रसिद्ध बनारसी साड़ियों का भी प्रमुख केंद्र इसी विधानसभा में है। पीएम नरेंद्र मोदी ने इन सभी विषयो को दृष्टिगत रखते हुये विकास की योजनाओं पर कार्य प्रारम्भ किया और 2014 के बाद यह कार्य शुरू हुआ जो आज मूर्त रूप में प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन एवं प्रेरणा से पूर्ण  दिख रहे है। दक्षिण विधानसभा का छोटा काम या बड़ा काम कोई भी काम स्थानीय महत्व के साथ साथ वैश्विक महत्व का भी होता है, क्योंकि यहां देशी पर्यटकों व श्रद्धालु दर्शनार्थियों के साथ साथ विश्व समुदाय के भी पर्यटक भारतीय संस्कृति के प्रति जिज्ञासा रखने वाले लोगों का आवागमन प्रमुखता से होता है। 


पीएम मोदी के चुनाव लड़ने से पूर्व एवं 2017 में उत्तर प्रदेश की सरकार बनने से पहले काशी की मूल समस्या बिजली पानी सीवर की होती थी और इसी को लेकर विभिन्न राजनीतक दल आंदोलन किया करते थे और इन सभी समस्याओं की जड़ कहीं न कहीं से दक्षिण विद्यानसभा से शुरू होती थी, लेकिन प्रधानमंत्री के आने के बाद आज इस विधानसभा के लिए गौरव का विषय है की बिजली की समस्या दूर हो चुकी है, पानी की समस्या अब समस्या नहीं रही, सीवर की समस्या को जड़ से खत्म करने के लिए शाही नाले की सफाई का कार्य चल रहा है। बहुत पुरानी मांग थी कोनिया घाट के पल की, कज्जाकपुरा के ओवरब्रिज की, पार्किंग की जिसे पिछली सरकारों ने नकार दिया था लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में आज कोनिया घाट पुल का कार्य 90 प्रतिशत से ज्यादा पूर्ण हो चूका है। कज्जाकपुरा का ओवरब्रिज बन रहा है।  पहली बार काशी में अंडरग्राउंड पार्किंग का भी कार्य चल रहा है। जिसमे टाउन हाल एवं बेनियाबाग अंडरग्रउंड पार्किंग पूर्णता की ओर है तथा तांगा स्टैंड पार्किंग का लोकार्पण प्रधानमंत्री द्वारा किया जा चुका है।   


वाराणसी में कुंडो का अपना एक अलग महत्व है जिसका अध्यात्म से बहुत जुड़ाव है। प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में वाराणसी के दुर्गाकुंड, पितृकुण्ड, मातृकुण्ड, पिशाच मोचन, ईश्वरगंगी कुंड, लाट भैरव कुंड, मंदाकिनी कुंड, मछोदरी कुंड का सुंदरीकरण हो चूका है और धनेश कुंड का सुन्दरीकरण प्रस्तावित है। शहर के मध्य में महर्षि व्यास से जुड़ा हुआ कर्णघंटा कुंड जो लुप्त सा हो रहा था आज सुंदरीकरण के बाद अत्यंत सुन्दर स्वरुप में लोगों के लिए उपलब्ध है। 


काशी के घाटों की श्रृंखला स्वयं ही पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है। इन घाटों की दुर्दशा किसी से छिपी नहीं थी। घाट टूट गए थे एक दूसरे से कनेक्टिविटी नहीं थी। घाटों के इतिहास को कोई बताने वाला नहीं था।  लेकिन आज पीएम के मार्गदर्शन में सभी घाटों का सुंदरीकरण हो चूका है। राजघाट से आदि केशव घाट तक खिड़किया घाट के निर्माण के साथ जोड़ने की प्रक्रिया प्रगति पर है जो अपने आप में एक बड़ा पर्यटन स्थल बनने वाला है। 


बाहर से आने वाले दर्शनार्थियों, तीर्थ यात्रियों, एवं पर्यटकों के लिए बनारस की गलिया अत्यंत महत्वपूर्ण भ्रमण केंद्र होती। इन गलियों के सुंदरीकरण को लेकर के पीएम के अनुकंपा से गलियों की पूरी विकास की योजना पर काम चल रहा है। पायलट प्रोजेक्ट पर कामेश्वर महादेव वार्ड, राज मंदिर वार्ड, काल भैरव वार्ड, गढ़वासी टोला वार्ड, दशाश्वमेध वार्ड का कार्य चल रहा है। 


प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश में सुशासन की सरकार राम राज्य की स्थापना की ओर बढ़ रही है। जिसमे सबका साथ सबका विकास मूलभाव में निहित। इसलिए हमारी सरकार ने हर वर्ग के विकास के लिए वांछित कदम उठाए है। जिसका परिणाम आज उत्तर प्रदेश में किसी भी धर्म, जाती व समुदाय का व्यक्ति हमारी सरकार के साथ एक गहरा आत्मिक जुड़ाव महसूस करता है। ये वास्तव में सुशासन के लिए कृत संकल्प हमारी बहुत बड़ी उपलब्धि है। 


आज से 4.5 वर्ष पूर्व जब मुझे संगठन के विश्वास और जनता के आशीर्वाद के परिणाम स्वरुप दक्षिणी विधानसभा के निवासियों की सेवा का अवसर बाबा विश्वनाथ व मां गंगा की कृपा से प्राप्त हुआ, पिछले साढ़े चार साल में मेरा सतत प्रयास यही है की दक्षिणी विधानसभा को काशी की सांस्कृतिक ह्रदय स्थली है। उसके प्रत्येक वार्ड, प्रत्येक गली में सुविधाओं का एक ऐसे मॉडल को विकसित करूं जिसमे शिक्षा, स्वास्थ्य, आवास ऐतिहासिक स्थल, पर्यटन एवं आधारभूत संरचना का स्वरुप विकसित हो। 

liveupweb
the authorliveupweb