TopUtter Pradeshvaranasi

कोरोना काल में जरूरतमंदों की मसीहा बनी ‘टीम अनुराग’, अस्पताल से लेकर ऑक्सीजन मुहैया कराने तक कर रहे मदद

अंकिता यादव,

वाराणसी। इस कोरोना महामारी के दौर में अपने भी परायें होते जा रहें है, रिश्तेदार, पड़ोसी हर कोई कोरोना के खौफ से अपनों की मदद से इस तरह कतरा रहा है, कि मानो जैसे उनके अंदर की मानवता मर सी गई हो। वहीं कुछ लोग ऐसे भी है जो रिश्ते नाते अपने पराये से कहीं परे हटकर निस्वार्थ रूप से इस आपदा में लोगों की लगातार मदद कर रहे है। वाराणसी की ‘टीम अनुराग’ भी उनमें से एक है, जो इस महामारी के दौरान जरुरतमंदो को अस्पताल में बेड का प्रबंध कराने से लेकर दवा,ऑक्सीमीटर, एम्बुलेंस, प्लाज्मा डोनेट और ऑक्सीजन मुहैया कराने तक का कार्य करने में जुटी है। 

एक फोन कॉल पर ‘टीम अनुराग’ ऑक्सीजन मुहैया कराती है 

वाराणसी के अनुराग पांडेय उर्फ़ छोटू, जो महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के छात्र नेता भी रह चुके है। जिनके नाम से यह ‘टीम अनुराग’ है, जो गरीबों, जरुरतमंदो की मदद में जुटी है। अनुराग से इस महामारी काल में स्थतियों को बिगड़ता देख, यह यह ठाना की वह लोगों को इस तरह से बेबस और मरता हुआ नहीं देख सकते ,तभी उन्होंने कोरोना वॉरियर्स के नाम से  256 लोगों का एक व्हाट्सप्प ग्रुप बनाया। इस ग्रुप में शहर के तमाम छात्र नेता, समाजिक कार्यकर्ता, अधिवक्ता, समाजसेवी, चार्टेड एकाउंटेंड, बिज़नेस मैन मेडिकल से जुड़े एमआर ऐसे कई लोगों को जोड़ा और उनके मोबाइल नंबर को हेल्पलाइन नंबर बना दिया। अब किसी को जब कभी भी ऑक्सीजन की आवश्यकता पड़ती है, बस एक कॉल पर ‘टीम अनुराग’ लोगों को ऑक्सीजन सिलेंडर मुहैया करा देती है। 

“चंदा इक्क्ठा कर, लोगों के मदद की शुरुआत की”  

अनुराग ने बताया कि शुरू से ही लोगों की ऐसे ही मदद करते आ रहे है, इस कोरोना महामारी के समय भी वह जरुरतमंदो की मदद कर रहे है। अनुराग ने कहा कि, शुरुआत में में उन्होंने अपने साथियों के साथ मिलकर चंदा जमा किया और 4 ऑक्सीजन सिलेंडर 25 हजार रुपए में खरीदा और अभी तक अपने टीम के सहयोग से अनुराग करीब 50 से 60 ऑक्सीजन सिलेंडर लोगों को मुहैया करा चुके है। इसके अलावा वह जरूरतमन्दों को अस्पताल में बेड, दवा,ऑक्सीमीटर, एम्बुलेंस, प्लाज्मा डोनेट, सर्जिकल आइटम से लेकर जांच करवाने तक में कोई भी जरूरत पड़ने पर मौके पर पहुँच कर सब व्यवस्था करावा रहे हैं और सहायता कर रहे है। 


रोजाना करीब 150 कोरोना मरीजों के भोजन का प्रबंध करती है ‘टीम अनुराग’

बता दें कि, अनुराग के साथ उनके टीम के करीब 100 से 125 सदस्य लगातार लोगों की मदद के लिए फील्ड में बने हुए है। हर किसी को अलग-अलग जिम्मेदारियां सौप दी गई है, कोई भोजन की जिम्मेदारी उठाता है, तो कोई पेशेंट को प्लाज्मा डोनेट करने की, कोई मेडिकल से लेकर अस्पताल में एडमिट कराने जैसी अन्य कई जिम्मेदारियों के कार्यभार को बखूबी संभाल रहा है और दिन-रात लोगों की सेवा में संलग्न है।  अनुराग और उनकी की टीम रोजाना 100 से 150 कोरोना पीड़ित मरीजों के भोजन का भी प्रबंध कर रहे है। 

liveupweb
the authorliveupweb