DistrictUtter Pradeshvaranasi

वाराणसी  कांग्रेस का सरकार पर आरोप :- हॉस्पिटल्स में है लोग परेशान, मर रहे हैं मरीज पर मरीजों की सुध लेने वाला कोई नहीं

 वाराणसी- हॉस्पिटल में मरीजों की सुध लेने वाला कोई नहीं जिसके कारण मरीजों की इलाज के अभाव में  हो रही है मौत। इन मौतों के लिए कौन जिम्मेदार है?। क्या अस्पताल में फैली दुर्व्यवस्थाओं का होना, डॉक्टरों का लापरवाह होना या जिला प्रशासन का मौन होना। इन्हीं सब  कारणों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में मेडिकल व्यवस्था बदहाल है। व सारी व्यवस्थाएं दलालों के हाथों में चली गई है। जहां एक तरफ प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री अपने अपने कार्यों की सराहना करते फिर रहे हैं। वही काशी में देखने को मिला की उन्हीं(भाजपा) के कार्यकर्ता डा गुफरान जावेद एवं हुमा बानो(वर्तमान में भाजपा पदाधिकारी) जो की अस्पतालों में फैली दुर्व्यवस्थाओं के कारण या यूं कहें तो अस्पतालों में बेड, ऑक्सीजन, वेंटिलेटर एवं जीवन रक्षक दवाओं के ना होने के कारण अपनी बहन का जीवन नहीं बचा सके। जब हमने उनसे पूछा कि आप तो बीजेपी के कार्यकर्ता है। एवं प्रदेश और केन्द्र में आपकी सरकार है।आपको हॉस्पिटल में क्या परेशानी हुई तो उन्होंने बताया कि हमें  एक बेड भी नहीं मिल सका और हम क्या कहें हमारी आंखों के सामने हमारी बहन दुनिया छोड़ कर चली गई। जब उस कार्यकर्ता से अस्पतालों में व्यवस्था के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा की इस बदहाल व्यवस्था पर हमें यही कहना है कि यह सरकार किसी की नहीं है। और जो भी वादे कर रही है। वह वादे पूरा नहीं कर रही है। और हम आपसे क्या कहें हमने तो भाजपा के बड़े-बड़े पदाधिकारियों से भी बात की और कहा हमारी बड़ी बहन है। इसे एक बेड हॉस्पिटल में दिलवा दीजिए तो वहां से यह जवाब आया  की हॉस्पिटल वाले हम लोगों की बात नहीं सुन रहे हैं। बताओ हम कैसे तुम्हारी मदद करें  वही बड़ी-बड़ी बातें करने वाले लोग आज गरीबों को मरता देख रहे हैं। और हम एक डॉक्टर होते हुए भी अपनी बहन को नहीं बचा सके। डॉक्टर गुफरान का कहना है हमारी पत्नी हुमा बानो जो भाजपा में पदाधिकारी है। और हम लोगों का बीजेपी पर बहुत विश्वास रहता है। लेकिन आज हम लोगों के साथ ऐसा हुआ कि हम लोग बहुत टूट गए हैं। वाराणसी के सांसद एवं देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र दास मोदी ने गरीबों को लूटा है। और काशी की जनता इनसे बहुत खफा है।की यहां मौत का आंकड़ा बड़ा है हम लोग आपसे बस यही कहना चाहते हैं कि काशी में जिस तरीके से  शमशान और कब्रिस्तान पर लोगों की बॉडी दिख रही है ।लगता है कि आने वाले वक्त में हम लोग अपनों को खो देंगे और सरकार ने अपने देश के  सारे उद्योगों को प्राइवेट सेक्टर को दे दिया है।हमें बस अपने प्रधानमंत्री जी एवं मुख्यमंत्री जी से यही कहना है कि हमारी बड़ी बहन जिसकी  मौत हो गई है। उसके छोटे-छोटे बच्चे हैं उन्हें आर्थिक मदद प्रदान करके अपना सहयोग प्रदान करे।

liveupweb
the authorliveupweb