CourtTopUPvaranasi

Varanasi : दहेज़ प्रताड़ना के मामलें में पति को मिलीं अग्रिम जमानत

वाराणसी। दहेज में 20 लाख रुपये की मांग को लेकर विवाहिता को मारने-पीटने व प्रताड़ित करने के मामले में पति को अग्रिम जमानत मिल गयी। जिला जज डॉ. अजय कृष्ण विश्वेश की अदालत ने साबरमती, अहमदाबाद निवासी पति ऋषि संजय तिवारी को पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जाने की दशा में 50-50 हजार रुपए की दो जमानतें एवं बंधपत्र दिए जाने पर रिहा करने का आदेश दिया है। अदालत में बचाव पक्ष की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता अनुज यादव, नरेश यादव व विकास सिंह ने पक्ष रखा।

अभियोजन पक्ष के अनुसार चौक निवासिनी वादिनी गौरी तिवारी ने चौक थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। आरोप था कि उसकी शादी 29 जनवरी 2015 को ऋषि संजय तिवारी के साथ हुई थी। शादी के कुछ दिनों बाद ही पति का रवैया बदल गया और वह उसे मारने-पीटने व प्रताड़ित करने लगा। इस बीच उसे अहमदाबाद में ही 8 अप्रैल 2016 को उसे एक बेटी पैदा हुई। बेटी के जन्म के बाद ऋषि उसे और ज्यादा प्रताड़ित करने के साथ ही दहेज में 20 लाख रुपए की मांग करने लगा। इस दौरान वादिनी को पता चला कि उसके पति का कई औरतों से संबंध है। उसमें से एक लड़की ने उसके मोबाइल पर संदेश व तश्वीरें भी साझा की है। इस बारे में पूछने पर उसका पति उग्र हो गया और उसे गालियां देते हुए 20 लाख रुपये न मिलने पर 15 मई 2021 को मारपीटकर घर से बाहर निकाल दिया। साथ ही उसका सारा सामान व आभूषण भी रख लिया। किसी तरह वह 19 मई को अपने पिता के घर पहुंची। बाद में पिता के साथ थाने में जाकर शिकायत दर्ज कराई।

अदालत में बचाव पक्ष की ओर से दलील दी गयी कि वादिनी खुद कई लोगों से मोबाइल पर बात करती थी। जब उसे रोकने की कोशिश की गई तो वह उल्टे आरोपित के ऊपर कई लड़कियों से अवैध संबंध का आरोप लगाते हुए मारपीट पर आमादा हो गयी। बाद में बिना किसी को बताए घर मे रखा सारा आभूषण व डेढ़ लाख रुपये नगद लेकर वहां से अपने मायके आ गयी। अदालत ने दोनों पक्षों की दलील सुनानेबव पत्रावली के अवलोकन के बाद आरोपित की अग्रिम जमानत अर्जी मंजूर कर ली।

liveupweb
the authorliveupweb