TopUtter Pradeshvaranasi

वाराणसी :- कोरोना काल में जरूरतमंदों के लिए “खाकी वर्दी वाले मसीहा”, पढ़िए पूरी खबर

अंकिता यादव,

वाराणसी। इस कोरोना काल में लोगों को कई तरह की परेशानियों से गुजरना पड़ रहा है। कहीं अस्पतलों में बेड की कमी, कहीं ऑक्सीजन, कहीं एम्बुलेंस, तो कहीं दवाओं की कमी ऐसी कई अनगिनत समस्याएं है जिनके कारण रोजाना कई मरीजों की जान जा रही है। तो वहीं इस आपदा की घड़ी में कई चेहरे ऐसे भी उभर कर सामने आ रहे है, जो दिन रात लोगों की मदद करने में लगे हुए है। इन्हीं चेहरों में एक चेहरा है वाराणसी पुलिस के चितईपुर चौकी इंचार्ज अर्जुन सिंह का, जो वाराणसी में रहकर भी दूसरे शहर तक लोगों को मदद पहुंचा रहे है। 

 चितईपुर चौकी इंचार्ज अर्जुन सिंह ने गोरखपुर के युवक की मदद कर मानवता की एक अनूठी  मिसाल पेश की है। दरअसल, गोरखपुर के एक युवक ने अपने बीमार माता-पिता जो कि कोरोना संक्रमित है उनके लिए फेबीपल्यू टेबलेट भजने की मदद मांगी थी। उसने एक ट्विटर पर गुहार लगाते हुए लिखा था कि, उसके माता-पिता दोनों कोरोना संक्रमित है। यहां फेबीपल्यू टेबलेट नहीं मिल रही है। मेरी मदद किया जाए। इस ट्वीट का संज्ञान काशी के भाजपा सोशल मीडिया सेल प्रभारी शशि कुमार ने लेते हुए उक्त युवक को मदद का भरोसा दिलाया और इस बात की  जानकारी चितईपुर चौकी इंचार्ज अर्जुन सिंह को हुई और उन्होंने तत्काल युवक से संपर्क किया और उसकी मदद का भरोसा दिलवाया।

कुछ इस तरह युवक तक पहुंची मदद 

अर्जुन सिंह ने दवा के लिए करीबन कई फ़ोन कॉल किये और आखिरकार फेबीफ्ल्यू दवा का प्रबंध कर लिया। दवा का भुगतान कर अर्जुन सिंह ने इस दवा को अपने पास मंगवा लिया। अब जब दवा का इंतजाम हो गया उसके बाद सही समय पर मरीज तक उसे गोरखपुर पहुंचाने की बात थी, तो फिर चौकी प्रभारी ने इसके लिए रोडवेज चौकी इंचार्ज रिजवान बेग से संपर्क साधा और उनसे मदद की बात कही। रिजवान बेग ने तत्काल तत्परता दिखाते हुए, गोरखपुर जा रही एक बस कंडक्टर से सम्पर्क कर युवक का पता मोबाइल नंबर देते हुए कंडक्टर को वहां दवा पहुंचाने को कहा। इसके बाद मात्र आधे घंटे के भीतर कंडक्टर बस लेकर गोरखपुर पहुंचा और युवक से सम्पर्क कर दवा उसके सुपर्द कर दिया।

इस तरह चौकी इंचार्ज अर्जुन सिंह और चौकी इंचार्ज रिजवान बेग की जद्दोजहद और तत्परता से युवक को गोरखपुर तक मदद पहुंचाई गई। अगर मन में मदद के लिए चाह और और अटल विश्वास हो तो फिर उसके लिए बंद रास्ते भी खुल जाते है। इस तरह अर्जुन सिंह अपने वर्दी के साथ-साथ मानवता का भी फर्ज बखूबी अदा कर रहे है और वो हमेशा ऐसे ही जरूरतमंदों और असहाय लोगों की मदद करते आ रहे है। 

liveupweb
the authorliveupweb