PoliticsTopUPvaranasi

Varanasi : अपने बेबाकी और बयानों को लेकर हमेशा से चर्चा में रहने वाले ओमप्रकाश राजभर एक बार फिर अपने बड़े बयान के लिए जाने जाएंगे

वाराणसी। उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे ओमप्रकाश राजभर इन दिनों अपने पुराने साथी भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ जोरदार मोर्चा खोलकर भाजपा के विकल्प के रूप में भागीदारी संकल्प मोर्चा बनाकर अपने और अपनी टीम को प्रस्तुत करने में जुटे हुए हैं इस दौरान ओमप्रकाश राजभर वाराणसी के सर्किट हाउस में रुके हुए थे और फोन पर ही मीडिया को जानकारी देते हुए अपनी भड़ास निकाल रहे थे। 

ओमप्रकाश राजभर ने उत्तर प्रदेश सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि जब बिहार पांडिचेरी आदि प्रदेशों में शराबबंदी हो चुकी है तो फिर यूपी में क्यों नहीं यूपी में भी शराबबंदी सरकार करें तुम्हें दूसरी तरफ ओमप्रकाश राजभर ने युवाओं को रोजगार मिले इस पर भी बड़े बेबाकी से अपनी बात को रखें उन्होंने कहा कि जिस प्रकार देश में चाइना का माल आ रहा है उससे हिंदुस्तान का रोजगार नौजवानों से छीन रहा है ऐसे में हिंदुस्तान के नौजवानों को रोजगार देने के लिए यह आवश्यक है कि केंद्र सरकार चाइना से व्यापारिक रिश्ते खत्म कर उनके लाइसेंस निरस्त कर दें जब चाइना का माल आना बंद हो जाएगा। 

तो सोचा हिंदुस्तान में हिंदुस्तान के नौजवानों को रोजगार मिलने की संभावना बढ़ जाएगी वहीं दूसरी तरफ ओमप्रकाश राजभर ने प्रदेश में भ्रष्टाचार और नौकरशाहों पर भी अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की नौकरशाहों पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि प्रदेश में नौकरशाह बेलगाम हो गए हैं थाने से लेकर जिलाधिकारी तक भ्रष्टाचार के आकंठ में डूबे हुए हैं जिसके कारण प्रदेश में भ्रष्टाचार पूरी तरह से हावी है। 

भागीदारी संकल्प मोर्चा के माध्यम से हम लोग हर समाज के लोगों को और जोड़ने का काम कर रहे हैं मेरे लाख डाउन नहीं लगा होता तो भागीदारी संकल्प मोर्चा अब तक भारतीय जनता पार्टी के विकल्प के रूप में दिख रही होती लेकिन भागीदारी संकल्प मोर्चा के सभी घटक दल अपने अपने समाज को जोड़कर एक एक नए रूप में जल दिखते हुए नजर आएंगे और 2022 के इलेक्शन में भारतीय जनता पार्टी को प्रदेश से उखाड़ फेंकने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे।

liveupweb
the authorliveupweb