bussinessCDOVARANASIDMVARANASIUtter Pradeshvaranasi

किट नाशक दवाओं की विक्री पर शख्त हुए DM कहा;- कीटनाशी डदवाओं की विक्री नियम के तहत हो नहीं, तो होगी बड़ी कार्यवाई

वाराणसी ;-कीटनाशक रसायन का नाम, बैच संख्या, निर्माण तिथि, अवसान तिथि एवं विकय मूल्य अंकित कर कैशमेमो कृषकों को उपलब्ध कराया जाय

इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता बरतने अन्यथा निरीक्षण के दौरान उक्त निर्देशों का पालन न करने वाले विक्रेताओं के विरूद्ध कीटनाशी अधिनियम-1968 तहत कठोर कार्यवाही की जायेगी
वाराणसी ;- किट नाशी नियमावली-1971 के नियम-15 और कीटनाशक (मूल्य, स्टॉक प्रदर्शन एवं रिपोर्ट प्रेषण) आदेश 1986 की धारा-4 के अनुसार विक्रेता द्वारा क्रेता किसान को कैशमेमो/क्रेडिट हर हाल में दिया 
मेमों देने एवं बिकी से संबंधित अभिलेख तैयार करने का प्रावधान है। जनपद के किसानों को कैशमेमो/क्रेडिट मेमो अनिर्वाय रूप से देने का निर्देश पूर्व में दिया गया है, परन्तु संज्ञान में आया है कि जनपद के कीटनाशक विक्रेताओं द्वारा किसानों को कैशमेमो निर्गत नही किये जा रहे है, जो कीटनाशी अधिनियम-1968 एवं कीटनाशक नियमावली 1971 के प्रावधानों का उल्लंघन है।


         जिला कृषि रक्षा अधिकारी राजेश कुमार राय ने बताया कि अतः जनपद के समस्त कीटनाशक विक्रेताओ को निर्देशित किया जाता है कि कीटनाशी रसायन का नाम, बैच संख्या, निर्माण तिथि, अवसान तिथि एवं विकय मूल्य अंकित कर कैशमेमो कृषकों को उपल्बध कराया जाय इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता न बरती जाय अन्यथा निरीक्षण के दौरान उक्त निर्देशों का पालन न करने वाले विक्रेताओ के विरूद्ध कीटनाशी
अधिनियम-1968 तहत कठोर कार्यवाही की जायेगी। जनपद के समस्त किसान भाईयों से अपील की जाती है कि धान, मक्का आदि की फसल में किसी भी प्रकार की कीट/रोग की समस्या होने पर मोबाईल नम्बर- 9452247111 तथा 9452257111 पर अपनी समस्याये भेजें, जिनका 48 घण्टे में आपकी मोबाइल नम्बर पर निवारण अवश्य बताया जायेगा।

liveupweb
the authorliveupweb